बस तुम्हारे लिए,…


बस तुम्हारे लिए,…

जिस तरह जरुरी नहीं की बच्चो की सब कहानियां ‘एक बार की बात है’ से शुरू हो या कबूतरों की सब कहानियां प्रेम-पत्रों से शुरू हो या गरीबी की सब कहानियां किसानो से शुरू की जाये वैसे ही हमारे इश्क़ की कहानी भी सिर्फ सच से शुरू हो जरुरी तो नहीं है न। इसलिए थोड़ा सा झूठ, थोड़ा सा सच पर बहुत सारा इश्क़ ,हमारी कहानी तुम्हारे नाम।

जब हम मिले थे उसके कुछ दिन बाद ही हमने एक दूसरे को बताना शुरू कर दिया था की हम दोनों एक दूसरे से कितना इश्क़ करते हैं जो की बेइन्तेहाँ से थोड़ा जयदा ही था . पर वो कितना सच था ये आज समझ आया. हालाँकि आज बिना बोले भी हम जानते है की हमारे बीच कितना कुछ गुजरता है जब हमारी बात नहीं होती।

पर तब अच्छा रुकिए,… शुरू से शुरू करता हूँ।

Advertisement

हम कैसे मिले थे मुझे ठीक से याद नहीं और शायद याद होना अब जरुरी भी नहीं क्योंकि उस बीते हुए कल में तुमने और मैंने बहुत से झूठे किस्सों का अचार एक दूसरे को खिलाया था। तब  मिलना और आज साथ होना के बीच का जो समय हमने साथ बिताया है, इस बीच काफी कुछ बदला है हम में।

अच्छा सुनो न, कुछ और आगे पढ़ने से पहले एक बात और जान लो।  पता है मैं हमेशा से हमारे बारे में कुछ लिखना चाहता था पर कभी समय तो कभी कलम ने साथ न दिया। सभी कविताओं और कहानियों को बीच में ही छोड़ कर उठ जाता था पर आज लगता है जब तुमने मेरी कहानियों को अपना समझ कर पढ़ना और खुद को और मुझे जानना शुरू कर दिया है तो शायद आज की ये हमारी कहानी ख़त्म हो ही जाएगी।  तुम नहीं समझोगी की कहानियों और कविताओं का अधूरा होना कितना ख़राब होता है, अजीब लगता है।  लगता है जैसे मुझमे ही कुछ अधूरा है जो अबतक पूरा नहीं हुआ।

वैसे, तो तुम्हारे आने से पहले मैं यूँ भी अधूरा ही था।  तुम्हारे आने भर से मेरे अंदर का सारा खालीपन भर गया है ये कहना शायद गलत होगा, पर हां तुम्हारे आने से मुझमे अब ये आश जरूर है की तुम हो मेरे साथ तो शायद वो भी मिल ही  जायेगा जिसके इंतजार में मैं  आज तक हूँ। मेरे आने से तुम्हरी जिंदगी में क्या फर्क पड़ा है पता नहीं पर मैं तुम्हे पाकर खुश हूँ। बहुत ..

Advertisement

सब कुछ बहुत अच्छा है मेरी जिंदगी में बस उस एक वादे को छोड़कर।  उस एक वादे ने कितनी ही बार हमारे बीच लड़ाइयां करवाई है और न जाने कितनी ही रातें परेशानियों में काटी है हमने। शादी को लेकर,… छोड़ो आज रहने देते हैं उसे।

आज सिर्फ तुम्हारी बात करते है।  अच्छा तुमने कभी मेरे चेहरे को गौर से देखा है, कहते है हमारी आँखों में सिर्फ सच होता है कभी समय मिले तो मेरी आँखों में देख कर मेरे इश्क़ का अंदाजा लगाना।  शायद  उसके बाद हमारे बीच लड़ाइयां कम हो। और हाँ मैं ताने नहीं मार रहा  .

तुम्हरे साथ होना , मुझे मेरे साथ होने जैसे लगता है।  होते होंगे वो लोग जो अपने प्रेमी/प्रेमिका को देखकर खो जाते होंगे मैं तो तुमसे मिलकर खुद से मिल जाता हूँ।  तुम होती हो तो मुझे किसी और की जरूरत महसूस नहीं होती।

Advertisement

इश्क़ है मझे तुमसे क्योंकि हम एक दूसरे को जरुरत की हद्द तक समझते है।  जरुरत की हद्द यानि जितनी जरुरत है। अच्छा लगता तुम्हारा बेबाकीपन, जो मन में हो बोल देना। अच्छा हो, बुरा हो, क्या फर्क पड़ता है।  बता देना की आज मैं परेशान हूँ, या खुश हूँ।  एक दूसरे के लिए अच्छा होता। आसानी होती है रिश्तो को समझने और मजबूत बनाने में .

मुझे पसंद नहीं वो लोग जो परेशान होने के बावजूद ठीक होने का दिखावा करते है और सोचते हैं की सामने वाला खुद जान जायेगा और पूछेगा। नफ़रत है मझे ऐसे लोगो से।  खुशियों को , परेशानियों को , भय को , प्रेम को बाँटना आना चाहिए। इससे प्यार बढ़ता है। तुम ऐसी ही हो मेरे जैसी जिसे फर्क नहीं पड़ता उसके बारे में लोग क्या सोच और बोल रहे है। बस उसे अपनी बात कहनी है।

मैंने कहीं पढ़ा था,

Advertisement

If you are missing someone    ;- just call/text them

 wanna meet someone             ;-  just say it and arrange a meeting

you love someone                     ;-  express it,  tell them

Advertisement

you are doubting something ;- just ask it

मुझे  वो लोग बहुत  अजीब लगते है जो उम्मीद रखते है की हमारा पार्टनर अपने आप समझ जायेगा।

बहराल तुम ऐसी नहीं हो इस बात की मुझे ख़ुशी है।

Advertisement

इतनी सारे दिनों का साथ, इतनी सारी लड़ाइयां, कई बार ब्रेकअप की नाकाम कोशिश, बहुत सरे झूठ और सच के बाद भी आज हम साथ है।  और मैं हमेशा तुम्हरे साथ ऐसे ही रहना चाहता हूँ। 

कहने को लिखने को बहुत कुछ है पर मेरा शब्दों वाला प्यार आज के लिए बस इतना ही।

जरूर बताना मैं शब्दों के साथ तुम्हे ठीक से बता पाया या नहीं। और एक बात, ‘तुम सिर्फ मेरी हो‘ ये वादा नहीं चाहिए बस इतना काफी है की ‘तुम मेरी हो, जब मेरे साथ हो’। तुम नहीं बताओगी की तुम आज किससे मिली तो भी चलेगा बस जब हम साथ हो तो कोशिश करना बस एक दूसरे के ही साथ हो।

Advertisement

कुछ और बेहतरीन कहानियां आपके लिए

इश्क़ का रिवाज

एक खत सिर्फ तुम्हारे नाम

कोहरे वाली पहाड़ी लड़की

Advertisement

Subscribe us for more such awesome hindi stories, love story, etc. And share yours in the comment section.

Leave a Reply